Madhya Pradesh

कुँआताल मेला (Kuatal Mela), बनौली

कुँआताल मेला (Kuatal Mela), पन्ना जिले के सिमरिया क्षेत्र की बनौली पंचायत में, कंकाली माता के दरवार में हर वर्ष लगता है. यह मेला बुन्देलखण्ड का सबसे अधिक भीड़ वाला प्रसिद् मेला है, जो चैत्र नवरात्रि में हर वर्ष लगता है. इसे देखनें के लिए क्षेत्र व आस-पास के पड़ौसी जिलों से भी हजारों की …

कुँआताल मेला (Kuatal Mela), बनौली Read More »

कालियादेह महल, उज्जैन

कालियादेह महल यह एक प्रतिष्ठित ऐतिहासिक स्थानों में से एक है, इसका निर्माण 15वीं शताब्दी में मांडू के सुल्तान ने करवाया था। यह शिप्रा नदी के बीच एक द्वीप पर बना हुआ है माना जाता है पिंडारियों के हाथो बर्बाद होने के बाद 1920 मे माधवराय सिंधिया ने पुनः निर्माण कराया था। MP टूरिज्म के …

कालियादेह महल, उज्जैन Read More »

श्री चिंतामण गणेश मंदिर, UJJAIN

चिंतामण गणेश मंदिर एक बहुत ही पवित्र मंदिर है, जो कि उज्जैन शहर मे है। चिंतामण का अर्थ “मन की चिंता से मुक्ति” होता है। मंदिर में भगवान गणेश जी के तीन रूप देखने को मिलते हैं, चिंतामण गणेश, इच्छामन गणेश और सिद्धिविनायक गणेश। यहाँ की मान्यता है की जब आप यहां पर आपकी चिंताओं …

श्री चिंतामण गणेश मंदिर, UJJAIN Read More »

सांदीपनि आश्रम (Sandipani Ashram), उज्जैन

आश्रम का संबंध महाभारत काल से है। यह आश्रम उज्जैन से मात्र 2 किमी की दूरी पर है, तो आप आसानी से यहां पहुंच सकते हैं, या किसी परिवाहन की सहायता से. यह प्राचीन समय के प्रमुख शिक्षा केंद्रों में से सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। यहाँ श्री कृष्ण बलराम और सुदामा ने महर्षि सांदीपनि से …

सांदीपनि आश्रम (Sandipani Ashram), उज्जैन Read More »